Hindu World

पंचम नवरात्र – स्कंदमाता माँ

नवरात्रि का पाँचवाँ दिन स्कंदमाता की उपासना का दिन होता है। मोक्ष के द्वार खोलने वाली माता परम सुखदायी हैं। माँ अपने भक्तों की समस्त इच्छाओं की पूर्ति करती हैं। स्कंदमाता की चार भुजाएँ हैं। इनके दाहिनी तरफ की नीचे वाली भुजा, जो ऊपर की ओर उठी हुई है...

चतुर्थ नवरात्र – कुष्मांडा माँ

नवरात्र के चौथे दिन कुष्मांडा माँ के स्वरूप की ही उपासना की जाती है। इस दिन साधक का मन ‘अदाहत’ चक्र में अवस्थित होता है। अतः इस दिन उसे अत्यंत पवित्र और अचंचल मन से कुष्मांडा माँ के स्वरूप को ध्यान में रखकर पूजा-उपासना के कार्य में लगना...

तृतीया नवरात्र – चंद्रघंटा माँ

नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों का पूजन किया जाता है। नवरात्रि के तीसरे दिन मां चंद्रघंटा की पूजा की जाती है। मां के पूजन से भय का नाश अौर साहस की प्राप्ति होती है। नवरात्रि में मां चंद्रघंटा का मंत्र बहुत ही कलयाणकारी माना गया है। नवरात्रि...

Category - Bhakti