Hindu World

Archive - June 2017

श्री संतोषी माता की चालीसा

दोहा बन्दौं सन्तोषी चरण रिद्धि-सिद्धि दातार। ध्यान धरत ही होत नर दुःख सागर से पार॥ भक्तन को सन्तोष दे सन्तोषी तव नाम। कृपा करहु जगदम्ब अब आया तेरे धाम॥ चालीसा जय सन्तोषी मात अनूपम। शान्ति दायिनी रूप मनोरम॥ सुन्दर वरण...

श्री शनि देव जी की आरती

भगवान शनिदेव को दंडाधिकारी माना जाता है। मनुष्य को उसके अच्छे और बुरे कर्मों का फल देने वाले शनि देव भगवान सूर्य के पुत्र माने जाते हैं। शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए लोग शनि मंदिरों में तेल चढ़ाते हैं। साथ ही शनिदेव की...

Vaishnavism philosophy of demigods

Ganesa, Durga, Visvaksena, and other demigods worship and serve the Supreme Personality of Godhead in His abode of Vaikuntha. The Ganesa, Durga and other demigods mentioned here are different from the Ganesa, Durga and...

krishna and the tale of laddu

It is composed in poetical format by Sridhar swami around 500 years back in pandharpur Sridhar Swami narrated the pastime where mother Yasoda Lord Ganesha for Krishna’s good future. Mother Yasoda was fasting for Lord...

Who are gandharvas ?

They are considered as the celestial singers and also acted as the guardians of the famed Somarasa in the court of the Gods. They were the descendants of Kashyapa and his wife Arishta. In many occasions, the Gandharvas...

श्री संतोषी माता जी की आरती

जय संतोषी माता, मैया जय संतोषी माता । अपने सेवक जन को, सुख संपति दाता ॥ जय सुंदर चीर सुनहरी, मां धारण कीन्हो । हीरा पन्ना दमके, तन श्रृंगार लीन्हो ॥ जय गेरू लाल छटा छवि, बदन कमल सोहे । मंद हँसत करूणामयी, त्रिभुवन जन...

श्री साई बाबा चालिसा

पहले साई के चरणों में, अपना शीश नमाऊं मैं। कैसे शिरडी साई आए, सारा हाल सुनाऊं मैं॥ कौन है माता, पिता कौन है, ये न किसी ने भी जाना। कहां जन्म साई ने धारा, प्रश्न पहेली रहा बना॥ कोई कहे अयोध्या के, ये रामचंद्र भगवान हैं।...

 NFL Jerseys China