इस माया रुपी संसार में मनुष्य अनेक बुराईयों में जकड़ा हुआ है। गुरु उमाकांतानंद जी बता रहे हैं जीवन कि कमियों को दूर कर सफल आध्यात्मिक जीवन का रहस्य।